Breaking

Wednesday, March 25, 2020

What is Hantavirus? | How the hantavirus spreads, What are the symptoms of hantavirus?

What is Hantavirus? | How the Hantavirus spreads, What are the symptoms of hantavirus?

हन्ता वाइरस क्या है ? | कैसे हन्ता वाइरस फैलता है , | हन्ता वाइरस के लक्षण क्या है।  

हन्ता वाइरस किसमें पाया जाता है। (Hanta virus is found in)

हन्ता वाइरस अक्सर चूहों से फैलने वाला वाइरस है। 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार हंता वायरस चूहों के मल-मूत्र के द्वारा फैलता है। 
Hantaviruses मुख्य रूप से कृन्तकों द्वारा फैले वायरस का एक परिवार है और दुनिया भर के लोगों में विभिन्न रोग सिंड्रोम पैदा कर सकता है। किसी भी hantavirus के साथ संक्रमण लोगों में hantavirus रोग पैदा कर सकता है। 

Hantavirus
sorce:wikipidiya Hantavirus


अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के अनुसार हन्तावाइरस  के संक्रमण का पता लगाने के लिए लगभग 1 से 8 हफ्तों का समय लग सकता है।  

हन्तावाइरस के लक्षण (Hantavirus symptoms):  तेज बुखार आना ,सिर दर्द करना, बदन दर्द करना, पेट में दर्द होना, उल्टी, डायरिया जैसे लक्षण हो सकते हैं।  यह हन्तावाइरस के संक्रमण का इशारा करते हैं। 

यदि प्रारंभिक लक्षण हैनटवायरस जोखिम से जुड़े नहीं हैं और अनुपचारित छोड़ दिए जाते हैं, तो देर से लक्षण तेजी से शुरू हो जाएंगे। इन लक्षणों में खांसी और सांस की तकलीफ शामिल है, जो टपका हुआ रक्त वाहिकाओं का परिणाम है और फेफड़ों में तरल पदार्थ का संग्रह करने के लिए नेतृत्व करता है, रक्तस्राव और पंप करने के लिए हृदय की विफलता। इन परिवर्तनों के संयोजन से झटका लग सकता है, कई अंगों की विफलता और यहां तक ​​कि मृत्यु भी हो सकती है।

इसे ध्यान में रखते हुए, प्रमुख लक्षणों और संकेतों को देखने के लिए (कृंतक जोखिम के इतिहास के साथ) शामिल हैं:

101 डिग्री F से अधिक बुखार, ठंड लगना, शरीर में दर्द, सिरदर्द
मतली और उल्टी और पेट में दर्द
साँस लेने में कठिनाई के तेजी से शुरुआत के बाद एक सूखी खाँसी
हेंटावायरस का निदान कैसे किया जाता है

प्रत्येक हैनटवायरस सीरोटाइप में एक विशिष्ट कृंतक मेजबान प्रजातियां होती हैं और यह एरोसोलिज्ड वायरस के माध्यम से लोगों में फैलता है जो मूत्र, मल और लार में बहाया जाता है, और संक्रमित मेजबान से काटने से कम बार होता है। संयुक्त राज्य अमेरिका में सबसे महत्वपूर्ण hantavirus जो HPS का कारण बन सकता है, सिन नम्ब्रे वायरस है, जो हिरण माउस द्वारा फैलता है।

वे वायरस जिनके कारण हेन्टावायरस रक्तस्रावी बुखार होता है, उन्हें एंडीस वायरस को छोड़कर किसी व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में स्थानांतरित नहीं किया जाता है। हैनटवायरस की अन्य प्रजातियों के लिए, एरोसोलिज्ड कृंतक मलमूत्र या कृंतक काटने मनुष्यों में संचरण के एकमात्र ज्ञात मार्ग हैं।

विश्व में अभी कोरोनावायरस के प्रकोप से उभरा नहीं कि एक बुरी खबर चाइना से आने लग गई खबरों के मुताबिक यह हन्तावाइरस कोरोनावायरस से भी ज्यादा खतरनाक होता है।

 How is hantavirus diagnosed? (हन्तावायरस का निदान कैसे किया जाता है?) 


वर्तमान समय में हंता वायरस से बचने का कोई उपाय नहीं है। ( बचाव ही उपाय है ) अभी तक ऐसी कोई दवा नहीं बनी है, जिससे हन्तावायरस से बचा जा सकता है।  अतः अगरहलके लक्षण दिखाई देते हैं, तो आप डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं। 

क्या कोरोनावायरस की तरह हंतावायरस  भी जानलेवा है? (Are hantaviruses as deadly as coronaviruses?)

सीडीसी के अनुसार  हंता वायरस जानलेवा है।  चीन में 31 लोग हंता वायरस के संदिग्ध बताए जा रहे हैं।  चीन में हंता वायरस का यह मामला ऐसे समय पर आया है, जब पूरी दुनिया वुहान से निकले कोरोना वायरस की महामारी का सामना कर रही है।  कोरोनावायरस लगभग 190 के आसपास देशों में फेल चुका है। 

हंता वायरस की रोकथाम | Hantavirus Prevention

सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, हंता वायरस संक्रमण को रोकने के लिए चूहें, गिलहरी आदि को कंट्रोल करना पहली प्राथमिक होनी चाहिए। विशेष कर चूहों से बचाकर ही हम इस हन्ता वाइरस से बच सकते है। चूहों से संक्रमित एरिया की सफाई करते समय चूहों के मूत्र, लार और घोंसले के संपर्क में आने से बचना चाहिए। 



खबरों के मुताबिक मेरा ओपिनियन 

No comments:

Post a Comment