Breaking

Thursday, September 19, 2019

Ram Definition

Ram Definition | What Is Ram


हेलो दोस्तों, कंप्यूटर का नाम तो आपने सुना ही होगा कंप्यूटर चलाते भी होंगे आप, कंप्यूटर के अंदर बहुत सारे छोटे-छोटे भाग होते हैं, क्या आप जानते हैं ? जैसे-सॉफ्टवेयर,हार्डवेयर,मदरबोर्ड,सीपीयू,मेमोरी,डिस्क आदि। 

आज हम बात करेंगे कंप्यूटर का ही एक छोटा सा भाग जिसे हम रेम  कहते हैं, क्या होता है, रैम ? इसके बारे में जानने की कोशिश करेंगे और इसे डिटेल से जानेंगे। 

what is ram 

रेम का पूरा नाम होता है रैंडम- एक्सेस मेमोरी (रैम) चिप उन  प्रोग्राम में निर्देशों की श्रंखला और डाटा को जमा करके रखता है जिन्हें सीपीयू वर्तमान में प्रोसेस कर रहा है। मेरा मतलब है अगर आप कंप्यूटर पर कोई काम करते हो तो उस टाइम जो डाटा सेव रहता है और वो डाटा जिस सिस्टम में सेव रहता है, उसे हम रैम कहते हैं। 

Ram Definition

कंप्यूटर की  मेमोरी एक अस्थायी storage क्षेत्र है। यह data  और निर्देश रखता है जिसे CPU  की आवश्यकता होती है। कोई भी प्रोग्राम को चलाने से पहले प्रोग्राम को मेमोरी में कुछ storage माध्यम से लोड किया जाता है। यह CPU को कंप्यूटर प्रोग्राम तक सीधा पहुंचता है। सभी computers  में मेमोरी की आवश्यकता होती है।

Ram को अस्थाई या वोलेटाइल स्टोरेज कहा जाता है क्योंकि जैसे ही माइक्रो प्रोसेसर को बंद किया जाता है वैसे ही अधिकांश प्रकार के Ram  में उसमें मौजूद सूचनाएं खत्म हो जाती है।  बिजली चले जाने या माइक्रो प्रोसेसर में विद्युत करंट में कोई गड़बड़ होने से भी ऐसा हो जाता है।  परंतु सेकेंडरी स्टोरेज जिसकी चर्चा हम आगे करेंगे मैं ऐसा नहीं होता है।  यह एक स्थाई अथवा नॉन्वोलेटाइल स्टोरेज होता है। जैसे कि हार्ड डिस्क पर स्टोर किया गया डाटा।   जैसे-जैसे काम होता है जाए उसे सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस में बार-बार सेव करना अच्छा रहता है। 

 इसका अर्थ यह हुआ कि यदि आप किसी डॉक्यूमेंट या किसी स्प्रेडशीट पर कार्य कर रहे हो तो प्रत्येक कुछ मिनट में आपको उस सामग्री को सेव करते रहना चाहिए। 

ram चिप्स सर्विस बोर्ड के ऊपर लगाई जाती है। 

 कैश मेमोरी, मेमोरी और सीपीयू के बीच एक अस्थाई तेज गति के होल्डिंग एरिया के रूप में कार्य करके प्रोसेसिंग को तेज करती है।  कंप्यूटर है यह पता करता है कि रैम में जमा किस सूचना का अधिक प्रयोग किया जा रहा है और उस सूचना को केस में कॉपी करता है। जरूरत पड़ने पर cpu  कैश तुरंत उस सूचना को प्राप्त कर सकता है। 


मेमोरी क्षमता - मेगाबाइट (mb ) = एक मिलियन बाइट गीगाबाइट (gb ) = एक बिलियन बाइट टेराबाइट (tb ) =    एक ट्रिलियन बाइट 

अधिक रैम होना कितना महत्वपूर्ण है  

मान लेते हैं एक उदाहरण के लिए माइक्रोप्रोसेसर ऑफिस 2010 का प्रभावी ढंग से प्रयोग करने के लिए आपको कम से कम 512 एमबी की रैम चाहिए जिसमें प्रोग्राम को होल्ड करके रखा जा सके और ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए 1024mb तक की ram चाहिए। 


difference between ram and rom,types of ram,rom definition,ram definition computer,what is ram,meaning of rom,rom definition,rom def,hard drive definition,meaning of ram in hindi,rom computer definition,ram definition computer,function of rom,ram meaning in english,hard disk information,meaning of name ram rom information
                 


कुछ एप्लीकेशन जैसे फोटो एडिटिंग सॉफ्टवेयर के लिए अधिक मेमोरी की जरूरत पड़ सकती है। अच्छी बात यह है कि सिस्टम बोर्ड में DIMM (डुयल इन लाइन मेमोरी मॉड्यूल) नामक विस्तार मॉड्यूल को जोड़ के कंप्यूटर सिस्टम में अतिरिक्त रैम शामिल की जा सकती है। रेम  की क्षमता को बाइट में अभिव्यक्त किया जाता है। 

 मेमोरी की क्षमता को बताने के लिए सामान्य तीन मापन इकाइयों का प्रयोग किया जाता है। 

1. DRAM
2. SDRAM
3. DDR

यदि आपके कंप्यूटर में किसी प्रोग्राम को रखने के लिए पर्याप्त रैम नहीं है तो भी वह वर्चुअल मेमोरी का प्रयोग करके उस प्रोग्राम को चला सकता है। 

 आजकल के अधिकांश ऑपरेटिंग सिस्टम वर्चुअल मेमोरी के साथ आते हैं। वर्चुअल मेमोरी के साथ बड़े प्रोग्राम को हिस्से में बांटा जाता है और उन हिस्सों को सेकेंडरी डिवाइस में सामान्यतः हार्ड डिस्क में स्टोर किया जाता है।  उसके बाद, प्रत्येक हिस्से को जरूरत पड़ने पर ही रेम में रीड किया जाता है।  इस तरीके से कंप्यूटर सिस्टम बड़े प्रोग्राम पर काम कर सकते हैं। 


अब थोड़ा बहुत रोम के बारे में भी जान लेते हैं। 

ROM 

rom definition

रीड ओनली मेमोरी (ROM ) चिप  होती है जिसमें निर्माता द्वारा सूचना स्टोर की जाती है।  ram  चिप से अलग rom चिप वोलेटाइल नहीं होती और प्रयोक्ता द्वारा बदली नहीं जा सकती है।  read-only का अर्थ है कि सीपीयू रोम चिप पर सेव किए गए डेटा और प्रोग्राम को पढ़ सकता है, लेकिन कंप्यूटर रोम में दी गई सूचना क्या निर्देश को राइट- इन कोड बदल नहीं सकता। रोम चिप में  विस्तृत कंप्यूटर ऑपरेशन के लिए विशेष निर्देश होते हैं।  उदाहरण के लिए कंप्यूटर को स्टार्ट करने, मेमोरी एक्सेस करने या बेसिक कीबोर्ड इनपुट को हैंडल करने के लिए रोम निर्देश की जरूरत होती है। 

No comments:

Post a Comment