Breaking

Saturday, September 28, 2019

Motivational Story in Hindi | Inspration Story| Inspirational Quotes

Motivational Story in Hindi | Inspration Story| Inspirational Quotes

"इंतजार करने वालों को अच्छी चीजें मिलती तो है, पर केवल ऐसी चीजें ही मिलती हैं, जिन्हें कोशिश करने वाले छोड़ देते हैं"अब्राहम लिंकन
Motivational Story in Hindi | Inspration Story| Inspirational Quotes



किस्मत उसकी मदद करता है, जो अपनी मदद खुद करते हैं। 
Motivational Story in Hindi | Inspration Story| Inspirational Quotes

सफलता के मूल मंत्र

 हारने के लिए नहीं, बल्कि जीतने के लिए खेलें।  

दूसरों की गलतियों से सीखे।
 
ऊंचे चरित्र वालों लोगों से संबंध रखें। 

 जितना पाते हैं, उससे अधिक दें। 

 बिना कुछ दिए, कुछ पाने की उम्मीद न रखें। 

 हमेशा दूर की सोची अपने मजबूत पहलू को जाने, और उनकी
बुनियादी पर अपना विकास करें। 
 
फैसला लेते समय हमेशा हालात की व्यापक तस्वीर को ध्यान में रखें। 
 
अपनी सच्चाई के साथ कभी समझौता नहीं करें। 

 मैं तो केवल दो ही बातों पर यकीन करता हूं -

1.  ज्यादातर लोग अच्छे होते हैं, पर वह अच्छे बन सकते हैं। 

 2. ज्यादातर लोग यह जानते हैं कि उन्हें अपनी जिंदगी को और बेहतर बनाने के लिए क्या करना चाहिए। 

अब सवाल ये उठता है कि फिर कोशिश क्यों नहीं करते?

अब कमी है केवल प्रेरणा की।  अपनी मदद करने के तरीके बताने वाली बहुत सारी किताबें यह सिखाती है कि हमको क्या करना चाहिए?  लेकिन मेरा तरीका कुछ अलग है।  मैं लोगों से पूछता हूं,  "हम यह काम क्यों नहीं करते?"  अगर हम सड़क पर मिलने वाले लोगों से पूछे कि क्या करना चाहिए तो वह हमको सारे सही जवाब देंगे। लेकिन अगर हम उनसे यह पूछें कि क्या वे उन बातों पर अमल भी कर रहे हैं, तो जवाब होगा, "नहीं"  इसकी वजह प्रेरणा का अभाव है। 



Motivational Story in Hindi, Inspration Story

एक लड़का फुटबॉल खेलने की प्रैक्टिस करने लगातार आता  था, लेकिन वह कभी टीम में शामिल नहीं हो सका।  जब वह प्रैक्टिस करता था, तो उसके पिता मैदान के किनारे बैठ कर उसका इंतजार करते थे। मैच शुरू हुए तो वह लड़का 4 दिन तक प्रेक्टिस करने नहीं आया।  वह क्वार्टर फाइनल और सेमीफाइनल मैचों के दौरान भी नहीं दिखा लेकिन यह लड़का फाइनल मैच के दिन आया और उसने कोच के पास जाकर कहा, "आपने मुझे हमेशा रिजर्व खिलाड़ियों में रखा और कभी टीम में खेलने नहीं दिया, लेकिन कृपा करके आज मुझे खेलने दे।"  कोच कहा, "बेटा, मुझे दुख है कि मैं तुम्हें यह मौका नहीं दे सकता।  टीम में तुमसे अच्छे खिलाड़ी मौजूद हैं।  इसके अलावा यह फाइनल मैच है।  स्कूल की इज्जत दांव पर लगी है।  मैं तुम्हें मौका देकर खतरा मोल नहीं ले सकता।"  लड़के ने मिन्नत  करते हुए कहा, सर, मैं आपसे वादा करता हूं कि मैं आपके विश्वास को नहीं तोडूंगा।  मेरी आपसे विनती है कि मुझे खेलने दे" कोच ने इससे पहले लड़की को भी कभी इस तरह विनती करते हुए नहीं देखा था।  उसने कहा, "ठीक है बेटा, जाओ, खेलो, लेकिन याद रखना कि मैंने यह निर्णय, अपने ही बेहतर फैसले के खिलाफ लिया है और स्कूल की इज्जत दांव पर लगी है।  मुझे शर्मिंदा न होना पड़े। "

 खेल शुरू हुआ और लड़का तूफान की तरह खेला उसे जब भी गेंद मिली, उसने गोल  मार दिया।  कहना न होगा कि वह उस मैच का हीरो बन गया।  उसकी टीम को शानदार जीत मिली। 
Motivational Story in Hindi | Inspration Story| Inspirational Quotes


 खेल खत्म होने के बाद उसने उस लड़के के पास जाकर कहा, "बेटा, मैं इतना गलत कैसे हो सकता हूं? मैंने तुम्हें पहले कभी इस तरह खेलते हुए नहीं देखा। यह चमत्कार कैसे हुआ? तुम इतना अच्छा कैसे खेल गए?" लड़के ने जवाब दिया, आज मेरे पिताजी मुझे खेलते हुए देख रहे थे। कोच ने मुड़ कर उस जगह देखा जहां उसकी पिताजी बैठा करते थे, लेकिन वहां पर कोई नहीं बैठा था।  उसने पूछा, "बेटा, तुम जब भी प्रेक्टिस करने आते थे, तो तुम्हारे पिताजी वहां बैठा करते थे, लेकिन आज मैं वहां पर किसी को नहीं देख रहा हूं।"  लड़के ने उत्तर दिया, "कोच,  मैंने आपको यह कभी नहीं बताया कि मेरे पिताजी अंधे थे। चार दिन पहले उनकी मृत्यु हो गई।  आज पहली बार वह मुझे ऊपर से देख रहे हैं।"


अगर आपको यह कहानी अच्छी लगी तो इसे शेयर करना ना भूले। 

No comments:

Post a Comment